Saturday, January 07, 2006

आस्ट्रेलिया है सही चेम्पियन

वैसे तो में क्रिकेट के बारे में ज्यादा लिखता नही हुँ क्योंकि सभी जनता जनार्दन रिडिफ,ईंडिया टाईम्स पर क्रिकेट चाट कर ही ब्लाग-बाँची करती है. पर जो जीत आस्ट्रेलिया ने साोउथ-अफ्रीका पर हासिल करी है वह मुझे काफी प्रेरणादायी लगी, ना सिर्फ खेल के मैदान में बल्कि जीवन के खेल में भी. प्रोत्साहन के योग्य तो स्मिथ भी हैं जिनहोने सीरिज बराबर करने के लिए सोच-समझ के एक चुनौती रखी रिकी पोंटिग के सामने. जो साहस, आत्मविश्वास, चुनौती का सामना करने का जज्बा आस्ट्रेलिया ने दिखाया है वो मेरी सोच में सच्चे चैंपियन बनने की राह दिखाता है जीवन के हर पहलु में. कई बार हमारे सामने जीवन विकल्प रख देता है. अकसर एक रास्ता होता है जो १-० के ड्रा वाली विजय की तरफ ले जाता है. काम तो चल ही जाएगा, सुरक्षित राह, बिना जोखम का, बिना परिवर्तन का. और दुसरा होता है द्रुगम जिसमें खतरे होते हैं, काबिलियत का इम्तेहान होता है पर जो विजय होती है वह सम्पूर्ण होती है. रिकी पोंटिग ने सिखाए हैं असली लीडर के गुण. देखें हमारे नेता (सॉारी क्रिकेटर) क्या करते हैं पाकिस्तान में.

3 Comments:

Blogger Pratik said...

ऑस्‍ट्रेलिया की टीम और उसके कप्तान रिकी पोंटिंग वाकई सच्‍चे चैम्पियन हैं। रिकी पोंटिंग न सिर्फ़ कप्तान के रूप में सफल साबित हुए हैं, बल्कि एक बेहतरीन बल्‍लेबाज़ के तौर पर भी उन्‍होनें अपनी साख कायम कर ली है। पता नहीं कौन-सा टॉनिक पी कर इतने ताबड़तोड़ शतक बनाए जा रहे हैं।

11:39 PM  
Blogger Akshay said...

I was impressed by the Australian victory, and was telling my friends about the lessons that they taught. It's a coincidence that I thought in the similar fashion.

It's first time I'm visiting your site, and liked it. Shall visit more often. Btw, sorry that I don't have the Hindi font on my system.

5:58 PM  
Blogger Kalicharan said...

@प्रतीक - टॉनिक है ग.प.ल का भय. पूरी टीम को डोज मिलता है नही तो क्लार्क की तरह पङती है ग.प.ल.

@अक्षय - हमारे विचार कितने मिलते हैं, यह कहकर कॉलेज के दिन याद करा दिए. हर सुंदर कन्या से यही कहता था. यार कमेंटेटर के टोटे हैं ब्लागमंडल में, कोई गल नही तुम किसी भी भाषा में कमेंट करो.

9:43 PM  

Post a Comment

<< Home